Mr Faisu or Team 07 ne FIR ke baad Maangi sabse maafi

mr faisu with team 07
Image source: Mr faisu Instagram

शिवसेना IT cell core committee के सदस्य रमेश सोलंकी ने Mr faisu और Team 07 के खिलाफ एक विवादास्पद वीडियो अपलोड करने के लिए मुंबई के LT Marg पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की है।

 

मुम्बई पुलिस की साइबर सेल द्वारा झारखंड में तबरेज़ अंसारी की भीड़ द्वारा हत्या संबंधित वीडियो के बारे में कथित तौर पर एक वीडियो प्रसारित करने के लिए Mr faisu और Team 07 के बाकी सदस्यों के खिलाफ FIR दर्ज की गई, जिसके बाद लोगो को वह video पसंद नहीं आयी और उन्होंने उस video पर अपनी प्रतिक्रिया देनी शुरू करदी जो की team 07 के खिलाफ थी।

 

Mr.Faisu or Team 07 के ऊपर हुआ केस दर्ज

एक बार फिर हो सकता है Tik tok Ban

 

इस मामले ने तब तूल पकड़ा जब शिवसेना आईटी सेल की कोर कमेटी के एक सदस्य जिनका नाम रमेश सोलंकी है उन्होंने मुंबई में LT मार्ग पुलिस स्टेशन में इनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई और विवादास्पद वीडियो अपलोड करने वाले टिक टोक उपयोगकर्ता के खिलाफ अपनी शिकायत प्रस्तुत की।

 

शिकायत के बाद, इसपर तुरंत action लिया गया और उस विवादस्पद वीडियो को TikTok से delete कर दिया गया और यहाँ तक की mr faisu के account को भी disable कर दिया गया है, यह नहीं लाहा जा सकता की उनका ये tik tok account permanent disable किया गया है या फिर temporary तौर पर! लेकिन इनका instagram का account फिलहाल सही चल रहा है जिसपर इन्होने माफ़ी मांगी है।

 

अब इस घटना के एक दिन बाद mr faisu ने माफी मांगते हुए कहा, “अगर कोई भी व्यक्ति हमारे वीडियो से hurt हुआ है, तो हम उन लोगो से दिल से माफी मांगते है। Hamara irada, kisi ka dil dukhana, ya unka apmaan karna, nahi tha. Humne video ko nikaal diya hai। जय हिंदी! (हमारा इरादा किसी को चोट पहुंचाना या किसी का अपमान करना नहीं था। वीडियो को हटा दिया गया है, जय हिंद!)

 

शिवसेना कार्यकर्ता रमेश सोलंकी द्वारा मुंबई पुलिस के पास मामले की शिकायत दर्ज कराई गई थी। उसके बाद रमेश सोलंकी ने कहा कि Tik tok ने अब video को delete कर दिया है और इसे सर्कुलेट करने वाले सभीलोगों के अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया है।

 

ramesh solanki shivsena
Image source: Ramesh solanki Twitter

शिवसेना कार्यकर्ता रमेश सोलंकी ने पुलिस को मामले की सूचना दी और 5 Tik tok users के खिलाफ जो की video में शामिल थे, उनकी शिकायत दर्ज की और बताया की उनके करोड़ो followers है और उन सभी के लिए यह video अच्छा सन्देश नहीं दे रही है।

रमेश सोलंकी ने मीडिया में बयां दिया की, इन लोगो की FIR इसलिए दर्ज की गयी क्युकी “वीडियो विभाजनकारी थे, वीडियो अपलोड करने वाले उपयोगकर्ता दूसरों से बदला लेने के लिए कह रहे थे, यह लोगों को हिंसक होने के लिए भड़का रहे थे जिससे माहौल ख़राब हो सकता था। हमें इस तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं करना चाहिए।”

 

इतने हंगामे के बाद सबने मांगी माफ़ी

यह भी पढ़े

About the Author

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *